विख्यात लेखक लियो टॉलस्टॉय की किताब से एक छोटा सा अंश- जीवन को जानने के लिए सर्वप्रथम हमें खुद को जानना होगा।
Image Source : medium.com

अगर हमें जीवन के बारे में जानना है तो हमें सबसे पहले खुद को जानना होगा । हमारे अंदर क्या है कि हम दूसरों को तो बदलना चाहते हैं लेकिन खुद बदलना नहीं चाहते हैं। सबसे पहले अगर हमें जीवन को जानना है तो पहले हमें खुद को जानना होगा कि, मैं क्या हूं, कौन हूं और क्यों हूं तभी जीवन को जान पाना संभव होगा । अगर हमें इस दुनिया को बदलना है तो पहले खुद को बदलना होगा।

हर किसी को अपना कर्तव्य समझना होगा और उसे अपने आप को बेहतर बनाना होगा । महानता की परिभाषा जरूर अलग-अलग होती है लेकिन बिना सरलता , अच्छाई और सच के बगैर कोई भी इंसान महान नहीं बन सकता । सरलता तो जीवन का एक बहुत ही आवश्यक तत्व है । मजबूत इच्छाशक्ति वाले लोग हमेशा सरल स्वभाव के होते हैं। हम जिस शिक्षा की बात करते हैं, उस उच्च शिक्षा का एकमात्र उद्देश्य स्वतंत्रता होता है और इस शिक्षा को हासिल करने के लिए एकमात्र तरीका अनुभव है।

अगर आप अपने जीवन में पूर्णता की तलाश करते हैं तो आप कभी भी सुखी नहीं रह सकते है हम सिर्फ यही जान सकते हैं कि हम कुछ भी नहीं जानते और यही मानव ज्ञान की सर्वश्रेष्ठ डिग्री है। समय और धैर्य मनुष्य के 2 सबसे ताकतवर सैनिक है ।

बुरा होना उतना बुरा नहीं होता जितना झूठ बोलना व धोखा देना होता है झूठे और धोखेबाज लोग दुनिया के सबसे गिरे हुए लोग होते हैं । जिस दुनिया में हम रहते हैं उसमें अक्सर बुरे लोगों के पक्ष में बहुमत होता है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि बहुमत होने से बुरा आदमी अच्छा हो जाता है। जिस तरह सोने का पता दूसरे तमाम धातु को अलग करने पर चलता है वैसे ही झूठ को अलग करने पर सच अपने आप बाहर आ जाता है ।

अगर हम दूसरे को क्षमा करना सीख पाते हैं तभी हम एक शांति का अनुभव कर सकते हैं । सार्थक चिंतन के लिए जीवन में शाकाहार को अपनाना जरूरी है। खुश रहने की पहली शर्त यह है मनुष्य और प्रकृति के बीच जो संपर्क है उसे ना तोड़ा जाए। खुशी तभी तक वास्तविक हो सकती है जब लोग अपने जीवन का उद्देश्य दूसरों की सेवा माने और खुद को तथा अपनी खुशी को सबसे कम महत्व दें । खुशी और प्रेम के जब भी अवसर आए तो उसे बेकार ना जाने दे। तभी लोग आपसे प्रेम करेंगे हर हिंसा की शुरुआत कुछ लोगों द्वारा दूसरे लोगों पर दबाव बनाने या खामियाजा भुगतने या मार डालने की धमकियों से होती है जो देश जितना बड़ा होता है उसकी देशभक्ति उतनी ही गलत और निर्मम होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here