होम्योपैथी कॉलेजों में संविदा पर तैनात शिक्षकों की नियुक्तियां हुई रद्द।
Image Source : medscape.com

उत्तर प्रदेश शासन ने राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेजों में संविदा पर तैनात शिक्षकों की नियुक्तियों को निरस्त कर दिया है । प्रदेश के अपर मुख्य सचिव आयुष प्रशांत त्रिवेदी जी ने शिक्षकों के रिक्त पदों को संविदा के आधार पर भरने के 11 अप्रैल 2018 के शासनादेश को निरस्त कर दिया है । शुक्रवार को इसकी जानकारी होम्योपैथी निदेशालय को दे दी गई है ।

प्रदेश में राजकीय मेडिकल कॉलेजों में लगभग 200 संविदा शिक्षकों की भर्ती के मामले में भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद की शिकायत शासन स्तर पर की गई थी । इस मामले पर बहुत लंबे समय तक जांच भी चली और पूरा मामला शासन स्तर पर अटका हुआ था । आखिरकार शुक्रवार को अपर मुख्य सचिव आयुष प्रशांत त्रिवेदी ने शिक्षकों की नियुक्ति को निरस्त कर दिया है ।

Image Source : dw.com

प्रदेश में इस समय फैजाबाद , लखनऊ , इलाहाबाद , आजमगढ़, गाजीपुर , कानपुर, अलीगढ़ , गोरखपुर और मुरादाबाद में राजकीय होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज हैं । इन मेडिकल कॉलेजों में शिक्षकों की तैनाती के लिए फिर से नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की जाएगी ।

कोविड काल में सबको सरकारी तंत्र से उम्मीदें ज्यादा है वहीं पर ये फैसला बहुत लोगों के आजीवका पर डाइरैक्ट प्रभाव डालेगा । कुछ लोगों की गलती की सजा अब बहुत लोगों को भोगनी होगी । जहाँ एक ओर मेडिकल से जुड़े कोरोना योद्धाओ का सम्मान हो रहा है वही ये फैसला उसके विपरीत काम करेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here