अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के केस में मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने की CBI से सिफ़ारिश
Image Source : dnaindia.com

सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने CBI जांच की सिफारिश की है। सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि सुशांत सिंह के पिता के.के. सिंह ने सीबीआई जांच की मांग की थी। इसके बाद स्टेट गवर्नमेंट ने यह फैसला किया है। कहा जा रहा है कि जब तक CBI जांच के मंजूरी ना मिलने तक बिहार से गई SIT मुंबई में ही रहेगी। 

बिहार और महाराष्ट्र पुलिस में तालमेल की कमी

इस पूरे प्रकरण में बिहार और मुंबई पुलिस के बीच तालमेल नहीं दिख पा रहा। मुंबई पुलिस पर सहयोग न करने के आरोप और पटना एसपी सिटी को क्वारंटाइन करने के बाद मुंबई पुलिस कमिश्नर ने बोला था कि ये उनका अधिकार क्षेत्र है। मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने कहा है कि, हमने देखा उन्हें (बिहार पुलिस) एक बड़ी कार में और उसके बाद एक ऑटो में चल रही थी। उन्होंने हमसे कार के लिए कुछ नहीं बोला है। उन्होंने हमसे केस के लिए डॉक्यूमेंट्स भी मांगे थे तो हमने उनसे कहा है कि यह हमारा अधिकार क्षेत्र है। मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने आगे बोला है कि उन्हें यह साझा करना चाहिए कि कैसे वे हमारे अधिकार क्षेत्र में आ गए हैं। हम इसकी जांच के संदर्भ में कानूनी राय भी ले रहे हैं।

मुंबई पुलिस के कमिश्नर परमबीर सिंह ने सोमवार को बताया है कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के रूम पर कोई भी पार्टी 13 जून को नहीं हुई थी। उसके अगले दिन ही वह बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में मृत अवस्था में पाए गए थे। कमिश्नर परमबीर सिंह ने समाचार संवाददाताओं को बताया है कि मुंबई पुलिस के जांच के दौरान किसी भी लीडर का नाम सामने नहीं आया है। कमिश्नर परमबीर सिंह ने कहा कि बिहार की पुलिस टीम के साथ सहयोग नहीं करने का सवाल ही नहीं उठता है। बिहार पुलिस की एक टीम सुशांत सिंह राजपूत मामले में जांच के लिए महानगर मुंबई आई हुई है।

बिहार DGP ने भी कई आरोप लगाये है

बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि रिया चक्रवर्ती हमारी इस केश की आरोपी है, हमारी बिहार पुलिस इसकी जांच कर रही है, साक्ष्य मिलते ही हम रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी करें लेंगे। DGP गुप्तेश्वर पांडेय ने आरोप लगाया है कि मुंबई पुलिस हमें जांच करने नहीं दे रही है। अभी तक उन्होने सुशांत के पैसे को लेकर कोई भी जांच नहीं की है। उन्होंने कहा कि हमारे पुलिस अधिकारी आईपीएस विनय तिवारी से बंदी जैसा व्यवहार किया जा रहा है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here