चुनाव आयोग ने बिहार में चुनाव के तारीखों का किया ऐलान
Image Source : newindianexpress.com

बिहार में विधानसभा चुनाव का ऐलान आज हो गया है। चुनाव आयोग ने आज दोपहर 12.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी। और इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ही चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान दिया है। चुनाव आयोग ने दोपहर 12:30 बजे दिल्ली के विज्ञान भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस किया । इस दौरान चुनाव आयोग बिहार चुनाव के साथ 65 उपचुनावों की घोषणा भी की।

मुख्य बाते

तीन चरणों में मतदान होंगे 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को 3 चरणों में मतदान और 10 नवंबर को परिणाम, चुनाव आयोग की घोषणा ।

सीईसी सुनील अरोड़ा ने कहा हैं कि, “हम सभी जानते हैं कि बिहार में विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है। बिहार विधानसभा में 243 सदस्यों की संख्या है, जिसमें 38 सीटें एससी और दो एसटी के लिए आरक्षित हैं।”

डाक सुविधा के अलावा, कोविड -19 संक्रमित, वे अंतिम घंटे में मतदान कर सकते हैं। मतदान का समय एक घंटे बढ़ा दिया गया है । यह शाम 7 बजे से शाम 5 बजे के बजाय शाम 7 बजे से शाम 6 बजे तक आयोजित किया जाएगा। हालांकि, यह वामपंथी-प्रभावित क्षेत्रों पर लागू नहीं होगा: सीईसी सुनील अरोड़ा।

बिहार चुनाव 2020 के लिए 7 लाख हैंड सेनेटाइज़र यूनिट, लगभग 46 लाख मास्क, 6 लाख पीपीई किट, 6 लाख यूनिट फेस-शील्ड, 23 लाख (जोड़े) हैंड ग्लव्स की व्यवस्था की गई है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि मतदाताओं के लिए विशेष रूप से 7.2 करोड़ एकल-उपयोग वाले हाथ के दस्ताने की व्यवस्था है।

सीईसी सुनील अरोड़ा ने कहा है कि सोशल मीडिया का प्रतिकूल उपयोग हाल के दिनों में एक चुनौती बनकर उभरा है। डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म ज़ोर से धराशायी हैं। हम यह स्पष्ट करना चाहते हैं कि जो कोई भी चुनावी उद्देश्य के लिए सोशल मीडिया का रहस्यमय उपयोग करता है, उसे कानून के तहत परिणामों का सामना करना पड़ेगा ।

सीईसी अरोड़ा ने कहा है कि, “चुनावों में सुरक्षा बलों की बड़े पैमाने पर तैनाती होती है। हमने लंबी दूरी पर उनके मूवमेंट को कम करने की कोशिश की है।” यह उनकी थकान के साथ-साथ कोविड -19 के कारण है। अरोड़ा कहते हैं, “हमने इसके कारण चरणों की संख्या कम कर दी है।”

सभी राजनीतिक दलों के साथ बिहार की जनता भी इसका चुनाव का बेसब्री से इंतजार कर रही है। जैसे-जैसे चुनाव का टाइम नजदीक आ रहा है,लोगों की उत्सुकता बढ़ रही है । आपको बता दें कि अभी बिहार में करीब 7 करोड़ 29 लाख मतदाता हैं और इस समय चुनाव आयोग के समक्ष बिहार में चुनाव कराना किसी भी बड़ी चुनौती से कम नहीं है।

विशेष तिथियाँ

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: चरण 1

  1. राजपत्र अधिसूचना जारी करने की तिथि: 1 अक्टूबर
  2. नामांकन की अंतिम तिथि: 8 अक्टूबर
  3. नामांकन की जांच: 9 अक्टूबर
  4. उम्मीदवारी वापस लेने की अंतिम तिथि: 12 अक्टूबर
  5. मतदान की तारीख: 28 अक्टूबर
  6. मतगणना की तारीख: 10 नवंबर

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: चरण 2

  1. राजपत्र अधिसूचना जारी करने की तारीख: 9 अक्टूबर
  2. नामांकन की अंतिम तिथि: 16 अक्टूबर
  3. नामांकन की जांच: 17 अक्टूबर
  4. उम्मीदवारी वापस लेने की अंतिम तिथि: 19 अक्टूबर
  5. मतदान की तिथि: 3 नवंबर
  6. मतगणना की तारीख: 10 नवंबर

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: चरण 3

  1. राजपत्र अधिसूचना जारी करने की तिथि: 13 अक्टूबर
  2. नामांकन की अंतिम तिथि: 20 अक्टूबर
  3. नामांकन की जांच: 21 अक्टूबर
  4. उम्मीदवारी वापस लेने की अंतिम तिथि: 23 अक्टूबर
  5. मतदान की तिथि: 7 नवंबर
  6. मतगणना की तारीख: 10 नवंबर

आमतौर पर चुनाव आयोग चुनाव वाले राज्य के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा से पहले वहां की पुलिस, नागरिक प्रशासन के अफसरो एवं राजनीतिक दलों के साथ चर्चा करने के लिए प्रदेश का दौरा करता है। चुनाव आयोग में एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो चुनाव आयुक्त होते हैं।

चुनाव आयोग ने बिहार में चुनाव के तारीखों का किया ऐलान
Image Source : dnaindia.com

कोविड काल में प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

कोविड-19 के संकट काल में देश में ये पहला चुनाव होना है इस नज़रीए से निर्वाचन आयोग ने कोविड प्रोटोकॉल के मुताबिक, गाइडलाइन्स भी जारी की है। और मतदान केंद्रों की तादाद भी डेढ़ गुना से ज्यादा बढ़ा दी गई है। मतदान कराने वाले कर्मियों की संख्या भी बढ़ा दी गयी है और हर मतदान केंद्र पर मतदाताओं की तादाद घटा कर सीमित कर दी गई है।

सभी मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को मास्क लगाकर और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करके आने को बोला गया है, लेकिन सुरक्षा के नजरिए से प्रत्येक मतदान केंद्र पर मास्क, हैंडफ्री सेनेटाइजिंग और शरीर का तापमान मापने की व्यवस्था किए जा रहे हैं और वोटिंग शुरू होने से पहले बूथ को पूरी तरह से सैनिटाइज कर डिसइनफेक्ट करने की भी सख्त हिदायत दी गई है।

यह भी पढ़ें-

बिहार चुनाव के साथ ही साथ होंगे देशभर में 64 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव

आपको ये बता दें कि चुनाव आयोग ने इससे पहले स्पष्ट कर दिया था कि बिहार में विधानसभा चुनाव 29 नवंबर से पहले संपन्न हो जाएंगे। बिहार विधानसभा के चुनाव के साथ-साथ 65 सीटों पर उपचुनाव भी होंने है। आपको बता दे कि देश की एक लोकसभा और 64 विधानसभा सीटें खाली हैं। इन पर उपचुनाव को लेकर आज चुनाव आयोग की ओर से ऐलान किया है।

निर्वाचन आयोग ने डिसाइड किया है कि विधानसभा चुनाव के साथ-साथ ही खाली सीटों पर उपचुनाव भी करा दिए जाएं। निर्वाचन आयोग के अनुसार, बिहार में नई विधान का गठन 29 नवंबर से पहले हो जाना है, इस नजरिए से उसी के अनुसार विधानसभा चुनाव पूरे होने हैं। ऐसे में रिक्त हुई सीटों पर उपचुनाव भी बिहार विधानसभा के साथ ही साथ होंगे।

यह भी पढ़ें-

दो विवादास्पद फार्म बिल राज्यसभा में पारित, विपक्ष के हंगामे के बीच

राज्यसभा में आज सात प्रमुख विधेयकों को पारित किया गया, लोकसभा में 3 श्रम बिलों को भी मंजूरी

कोविड -19 अस्पताल मुंबई में बारिश के कारण जलभराव हो गया है

विधानसभा के कुल सीटें और किसके पास

बिहार के विधानसभा में कुल 243 सीटें हैं। इस समय भाजपा और जदयू का गठबंधन सत्ता में है। राजद बिहार में अभी सबसे बड़ी पार्टी है, जिसके पास कुल 73 सीटें हैं। लेकिन नीतीश कुमार की जदयू (जनता दल यूनाइटेड) ने 2017 में आरजेडी से गठबंधन तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बनाई थी। बिहार में एक बार फिर चुनावी जंग एनडीए और महागठबंधन के बीच लड़ी जानी है। भाजपा ने घोसणा किया गया है कि एनडीए नीतीश कुमार की अगुवाई में ही चुनाव लड़ेगा।

एनडीए की कुल सीटें- 130

• जदयू – 69

• भाजपा – 54

• लोजपा – 2

• हम – 1

• निर्दलीय – 4

महागठबंधन की कुल सीटें 101

• राजद – 73

• कांग्रेस – 23

• सीपीआई (ML) – 3

• निर्दलीय – 1

अन्य

1. AIMIM – 1

2. खाली सीटें – 12

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here