Li-Fi Technology
Li-Fi Technology

Let’sGoDigital की तरफ से आयी एक रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है की चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी OPPO ने हाल ही में एक नए स्मार्टफोन का पेटेंट कराया है जो अल्ट्रा हाई स्पीड ट्रांसफर रेट वाली Li-Fi पर आधारित है । उसमे उन्होंने यह बताया है कि कंपनी ऐसे स्मार्टफोन बनाने में लगी है जिसमे Li-Fi जैसी टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जा सके जिससे हाई स्पीड वायरलेस नेटवर्क का फायदा मिल सके ।

अब आपके दिमाग में यह सवाल जरूर आया होगा की आखिर यह Li-Fi क्या है ? तो आज हम इस आर्टिकल में आपको यह बताएँगे ।

Li-Fi:

अगर हम आसान भाषा में बात करे तो यह एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसमे वायरलेस कम्युनिकेशन के लिए या फिर दो डिवाइस के बीच डाटा ट्रांसफर करने के लिए लाइट बीम का प्रयोग किया जाता है ।

और ओप्पो कंपनी ने इसी टेक्नोलॉजी का पेटेंट कराया है जिसमे वो डिवाइस के बीच डाटा ट्रांसफर करने के लिए लाइट बीम का प्रयोग करेंगी । Li-Fi का सीधा मतलब एलईडी लैंप के luminescence स्टैण्डर्ड को बहुत तेज गति से बदलना है । यह प्रोसेस एक विशेष चिप द्वारा कण्ट्रोल की जाती है जो इनफार्मेशन को एन्कोड करती है। लाइट बीम को रजिस्टर करने के लिए, एक फोटोडेटेक्टर का उपयोग किया जाता है, जिसके आधार पर रिवर्स डेटा कन्वर्शन किया जाता है ।

अब आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा की अगर डाटा को डिवाइस के बीच ट्रांसफर करने के लिए लाइट बीम का प्रयोग करेंगे तो हमें लाइट दिखेगी । तो ऐसा बिल्कुल नहीं है यह लाइट इतनी स्पीड की होगी की वह इंसान के आँखों से नहीं देखी जा सकेगी । और इसका 10 मीटर तक का रेंज होगा यानि कि ट्रांसफर करने के लिए डिवाइस का 10 मीटर के रेंज में होना आवश्यक होगा और इसकी ट्रांसफर स्पीड की बात करे तो यह 20 Gbps तक होगी जो Wi-Fi से बहुत ज्यादा है ।

ऑब्सेर्वेर्स का मानना ​​है कि यदि यह टेक्नोलॉजी जारी की गयी , तो इसको नए रेनो फॅमिली में प्रवेश मिल सकता है । हालाँकि, कमर्शियल मार्केट में Li-Fi स्मार्टफोन के दिखने के संभावित समय के बारे में कुछ भी नहीं बताया गया है । Li-Fi का पूरा नाम लाइट-फिडिलिटी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here