world senior citizens day

आज ‘विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस’ है। इस यात्रा में, जिसे हम जीवन कहते हैं, हम अक्सर अपने बड़ों से सहायता और सलाह लेते हैं। जो हमारे साथ अपनी बुद्धि साझा करते हैं, हमें अपने अनुभवों से मार्गदर्शन करते हैं और हमें सही रास्ता दिखाते हैं। भारतीय संस्कृति में बड़े, बुजुर्ग का परिवार में होना एक पारिवारिक परिपूर्णता का प्रतीक माना जाता है।

उन्हें सम्मान देने के लिए, यह दिन ‘वर्ल्ड सीनियर सिटीजन डे’ के रूप में समर्पित है। यह दिन याद दिलाता है कि हमें उन बुजुर्गों का मूल्य, सम्मान और प्यार करना चाहिए जिन्होंने अपना पूरा जीवन अपने बच्चों, समाज और राष्ट्र के लिए समर्पित कर दिया है। इस आधुनिक दुनिया में, जबकि हम प्रौद्योगिकी का उपयोग कर अधिक अग्रिम होते जा रहे हैं।

कहते हैं वृद्धावस्था और बचपन दोनों ही अवस्था में व्यक्ति काफ़ी चंचल और हठी हो जाता है। यही कारण भी होता है कि बहुत से लोग वृद्ध लोगों से परेशान हो जातें हैं क्योंकि उन्हें संतुष्ट कर पाना मुश्किल होने लगता है। यह कहना एक हद तक व्यक्तिगत रूप से प्रभावित बात हो सकती है।

परन्तु आज हमारी मानवता और सहानुभूति का स्तर कहीं ना कहीं घटता चला जा रहा है। हम आए दिन घटनाएं सुनते रहते हैं, जो दर्शातें है कि दया भावना और सहानुभूति किस तरह से कम हो रही है। वहीं यह दिन वरिष्ठ नागरिकों के मानसिक, शारीरिक और समग्र स्वास्थ्य पर जोर देता है। बड़े होने की प्रक्रिया में, हम अक्सर भूल जाते हैं कि वे भी बड़े हो रहे हैं और उन्हें पालक की देखभाल, प्यार और समर्थन की आवश्यकता है।

पुराने लोगों की सेवा करना हमारी समृद्ध संस्कृति का हिस्सा रहा है। समय और आधुनिकता के साथ, हम अपने मूल्यों और उनके प्रति कर्तव्यों को भूल रहे हैं। हमें उन हाथों को छोड़ने में कभी शर्म नहीं आती जिन्होंने एक बार हमें सिखाया कि कैसे चलना और बात करना है और उन्हें एक वृद्धाश्रम में रहने तक को मजबूर होना पड़ जाता है।

आने वाली पीढ़ियां, आप अपने बड़ों के साथ कैसा व्यवहार करेंगे, यह आप से सीखेंगे। एक इंसान के रूप में, हमें थोड़ी सहानुभूति होनी चाहिए क्योंकि कहते हैं जैसा हम दूसरों के करतें हैं वह घूम-फिर कर हमारे पास आता ही है।

इस, विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस के विशेष अवसर पर, हमें प्रयास करना चाहिए कि वृद्धों को प्यार, देखभाल और समर्थन दे सकें क्योंकि उम्र बढ़ने के साथ अनुभव के अनुसार एक बेहतर मार्गदर्शक का होना एक विशेष अनुभव होता है।

ये भी पढ़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here